When Nayanthara opened up about misogyny and sexism: Why ought to males have the facility on a regular basis?


नयनतारा ने साक्षात्कार में कहा कि वह फिल्मों में नायकों को सिर्फ ग्लैमरस समर्थन के रूप में काम नहीं करने के लिए कह रही थी।

जब नयनतारा ने गलतफहमी और सेक्सवाद के बारे में खोला: पुरुषों को हर समय शक्ति क्यों होनी चाहिए?जब नयनतारा ने गलतफहमी और सेक्सवाद के बारे में खोला: पुरुषों को हर समय शक्ति क्यों होनी चाहिए?

हम सभी जानते हैं कि नयनतारा कितनी सराहनीय हैं! कई महिला-केंद्रित फिल्मों में अभिनय करने का विकल्प चुनने से लेकर प्रेस और सोशल मीडिया से दूर रहने तक का निर्णय लेना, भले ही इसकी मांग है, नयनतारा एक प्रतिष्ठित अभिनेत्री हैं, जो हर उस चीज़ में फिसलती हैं जो वह करती हैं। 10 साल में पहली बार नयनतारा वोग के साथ एक साक्षात्कार में दिखाई दीं, जहां उन्होंने मनोरंजन उद्योग में सेक्सिज्म और गलतफहमी सहित कई चीजों पर खुल कर बात की।

नयनतारा ने साक्षात्कार में कहा कि वह फिल्मों में नायकों को सिर्फ ग्लैमरस समर्थन के रूप में काम नहीं करने के लिए कह रही थी। उन्होंने कहा कि हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह इस तरह की भूमिकाओं में अभिनय नहीं करेंगी, कभी-कभी कोई विकल्प नहीं होगा। अरम स्टार ने यह भी सवाल किया कि पुरुषों को हर समय सारी शक्ति क्यों होनी चाहिए, और कहा कि कुछ महिलाओं को एक कमांड भूमिका में रहने का आत्मविश्वास नहीं है।

यह भी पढ़ें: जब नयनतारा ने अपने गले में बांधा विग्नेश शिवन का साथ

वोग ने उसे यह कहते हुए उद्धृत किया, “पुरुषों को हर समय सारी शक्ति क्यों होनी चाहिए? समस्या यह है कि महिलाओं को एक कमांडिंग भूमिका में होने के लिए आत्मविश्वास नहीं है, कहने में सक्षम होने के लिए, यह वही है जो मैं चाहता हूं, और यही मैं करूंगा। यह एक लिंग की बात नहीं है, अंततः-अगर मैं आपकी बात सुन सकता हूं, तो आपको भी मेरी बात सुननी चाहिए। नयनतारा ने विग्नेश शिवन के नानम राउडी धवन के साथ मनोरंजन उद्योग में फिर से प्रवेश किया। उनके पास किटी में फिल्मों का एक समूह है, जिसमें विग्नेश शिवन की काथु वाकुला रेंदु काधल, मुकुती अम्मन, रजनीकांत की अन्नाथे सहित कुछ नाम हैं।


आपकी टिप्पणी मॉडरेशन कतार में सबमिट कर दी गई है